इस भारतीय ने 180 किलो की रोटी बनाकर पूरी दुनिया को चौंकाया था, क्रेन की मदद से उठाया गया था इसे

New Delhi: आज हम आपको एक ऐसे भारतीय के बारे में बताएंगे जिन्होंने 180 किलो की रोटी बनाकर पूरी दुनिया को चौंकाया था। सबसे दिलचस्प बात ये है कि इस 180 किलो की रोटी को पलटने के लिए क्रेन की मदद ली गई थी। 180 किलो की रोटी, 14 फुट लंबी कचौड़ी, 14353 छोटे क्यूबों से बना शुगर क्यूब और 32 वर्ग फुट क्षेत्र में फैला ‘मालपुआ’। ये पढ़कर आपको किसी महाराजा के खाने का मेन्यू लग रहा होगा लेकिन ये जयपुर के रहने वाले प्रोफेसर के रिकॉर्ड्स हैं। जिन्हें limca world record में जगह मिली है। जी हां- आज हम आपको प्रोफेसर मनोज श्रीवास्तव के बारे में बताएंगे जिनके नाम ये रिकॉर्ड्स दर्ज हैं।

प्रोफेसर मनोज श्रीवास्तव जयपुर के रहने वाले हैं। प्रोफेसर को लिम्बा बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जगह मिली है। यह किसी व्यक्ति द्वारा प्राप्त सर्वाधिक रिकार्ड हैं। मनोज श्रीवास्तव ने ब्रिटेन की ‘वर्ल्ड रिकॉर्ड्स यूनीवर्सिटी’ से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की है। इन्होंने पर्यटन में एमबीए किया है। यह उन 13 लोगों में शामिल हैं जिन्हें रिकार्ड तोडऩे पर मानद उपाधि से नवाजा गया।

साल 2008 में प्रोफेसर ने पहला रिकॉर्ड 180 किलो का रोटी बनाकर बनाया था, जिसका वजन 180 किलोग्राम था। इसे क्रेन की मदद से उठाना पड़ा था। प्रोफेसर ने बताया कि मैंने इसे 16 घंटों में पूरा किया गया था। जब यह रोटी बनाई गई तो मुझे इसी तरह का कुछ अनोखा काम करने की प्रेरणा मिली। इसके बाद मैं रुका नहीं, लगातार मेहनत करता था। मैंने कुछ दिन के बाद दुनिया की सबसे बड़ी कचौड़ी बनाई। विश्व की सबसे बड़ी कचौड़ी को मैंने साल 2013 में बनाई। इसे बनाने में 12 घंटे लगे। ये कचौड़ी 6 फुट चौड़ी और 14 फुट लंबी थी। इसका वजन 365 किलोग्राम था।

कचौड़ी बनाने के बाद मैं फिर से नहीं रुका और मैंने फिर एक रिकॉर्ड बनानी की सोची। साल 2014 में मैंने शुगर क्यूब स्ट्रक्चर बनाया। इसमें शुगर के 14353 क्यूब लगे। इसकी साइज 5 फुट चौड़ी एवं 5 फुट लंबी थी। इसे 3 दिन में 11 स्टूडेंट के साथ मिलकर बनाया गया। फिर मैंने ग्रीक डिश मुस्साका बनाया। इसका वजन 800 किलोग्राम था। यह 12 फुट लंबी एवं 6 फुट चौड़ी थी।

प्रोफेसर एक के बाद रिकॉर्ड बनाते चले गए। इसके बाद उन्होंने फ्रांसीसी सब्जी औ ग्रेतिन बनाया। इसका वजन 560 किलोग्राम था। आकार 16 फुट लंबा, 6 फुट चौड़ा और 96 वर्गफीट में बना। डेजर्ट फुड गातो अन्नानास बनाया। इसका वजन 89 किलोग्राम एवं आकार 5 फुट चौड़ा एवं 5 फुट लंबा था। इसे बनाने में 9 घंटे लगे। इसमें 25 विद्यार्थियों की टीम ने भागीदारी निभाई।

आठ फुट लंबे, चार फुट चौड़े और 32 वर्गफुट के मालपूए बनाए। इसका वजन 62 किलो था। अंतिम में प्रोफेसर ने एक 8 फुट लंबा और 4 फुट चौड़ा इटालियन सोका बनाया। इसे 80 विद्यार्थियों की टीम ने मिलकर बनाया। इसका वजन 30 किलो था। है ना इस प्रोफेसर के नाम ये दिलचस्प रिकॉर्ड्स। भारत को ऐसे भारतीय पर गर्व है जो अपने अनोखे कारनामे से पूरी दुनिया में अपना और देश का नाम रौशन करते हैं।

About Naina

I believe in the Power of Words.

View all posts by Naina →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *