आंवला कैन्डी चटपटी, बच्चों को खूब भाए , नरम होने के कारण बुजुर्ग भी शौक से खा पाएं

New Delhi : सब को मीठा खाना पसंद होता है। सबको इसमें अलग-अलग डिश पसंद है ये एक अलग बात है। लेकिन अक्सर आपने नोटिस किया होगा की कई लोग खाना खाने के बाद मीठा खाते है। सबसे जयदा तो बच्चों को खाने के बाद मीठा चाहिए ही। अब आप उनको डेली आइस क्रीम मिठाई तो दे नहीं सकते क्योंकि ये भी उनके सेहत के लिए सही नहीं होता। इसमें ऐसा क्या बनाये जो आपके बच्चें के सेहत के लिए भी अच्छा हो। साथ ही हेल्दी भी इस वजह से आज की रेसिपी बहुत खास है क्योंकि ये एक कैंडी है जो की बनी है आंवला से यानी की आंवला कैन्डी चटपटी। जो की पाचन में सहायक और मुंह के स्वाद को बढ़िया करने वाली आंवला कैन्डी चटपटी। देखे इसको बनाने की रेसिपी। 

सामग्री :आंवले – 300 ग्राम,काला नमक – 2 छोटी चम्मच,जीरा – 1 छोटी चम्मच,अजवायन – 1 छोटी चम्मचकाली मिर्च – ½ छोटी चम्मच,जिंजर पाउडर – ½ छोटी चम्मच,हींग – 1 पिंच

विधि : आंवलों को भाप में पकाने के लिए एक ऎसा बर्तन लीजिए जिस पर छलनी आसानी से आ सके। बर्तन में पानी डालकर इसे ढककर पानी उबलने रख दीजिए और छलनी में आंवले रख लीजिए। पानी में उबाल आने के बाद, आंवलों की छलनी बर्तन पर रखिए और आंवलों ढक दीजिए। आंवलों को 8 मिनिट तक तेज आंच पर भाप में पकने दीजिए। पैन में जीरा, अजवायन, काली मिर्च और हींग को हल्का सा आधा- पौना मिनिट भून लीजिए। भुने मसाले को प्याले में निकाल लीजिए ताकि ये जल्दी ठंडे हो जाएं। मसालों के ठंडा होने पर इन्हें मिक्सर जार में काला नमक, जिंजर पाउडर के साथ डालकर पीस लीजिए। आंवलों के पककर तैयार होने पर छलनी को बर्तन से उतार लीजिए ताकि आंवले ठंडे हो जाएं। आंवले पकने पर खिले-खिले दिखते हैं। आंवलों के ठंडे होने पर इनकी कलियां अलग कर लीजिए और बीज हटा दीजिए। कलियों को दो भाग में काटकर पतला कर लीजिए। इनमें मसाले डालकर अच्छे से मिला दीजिए। आंवलों को प्याले में निकालिए और 1 घंटे के लिए रखे रहने दीजिए। ताकि मसाले अच्छे से आंवलों में ज़ज़्ब हो जाएं। आंवला कैन्डी को सुखाने के लिए ट्रै में डालकर पतला पतला फैला दीजिए और धूप में 2 दिन के लिए सूखने के लिए रख दीजिए। धूप ना हो, तो पंखे की हवा में भी इसे सुखा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *